Aaj Ka Panchang 18 October 2020: जाने आज का पंचांग, शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल के साथ दिन विशेष के बारे में।

Dainik-Panchang

|| Aaj Ka Panchang 18 October 2020 ||

पंचांग मुख्य रूप से पांच अंगों से मिलकर बनाता है। तिथि, नक्षत्र, वार, योग एवं करण ये पंचांग के पाँच अंग कहे जाते हैं। हिन्दू पंचांग को वैदिक पंचांग के नाम से भी जाना जाता है। पंचांग के द्वारा ही ज्योतिर्विद समय एवं काल की सटीक गणना करने मे सक्षम होते है। हम यहाँ पर आप को दैनिक पंचांग में आपके लिए शुभ मुहूर्त, राहुकाल, सूर्योदय और सूर्यास्त का समय, तिथि, करण, नक्षत्र, सूर्य और चंद्र ग्रह की स्थिति, हिन्दू मास एवं पक्ष आदि की जानकारी प्रदान करते हैं।

☀श्री गणेशाय नम:☀
☀ दैनिक पंचांग ☀

☀ 18 – Oct – 2020
☀ New Delhi, India

☀ पंचांग
☀ तिथि द्वितीया 17:30:06
☀ नक्षत्र :
स्वाति 08:52:24
विशाखा 30:09:12
☀ करण :
बालव 07:18:38
कौलव 17:30:06
☀ पक्ष शुक्ल
☀ योग प्रीति 17:12:04
☀ वार रविवार

☀ सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएँ
☀ सूर्योदय 06:24:00
☀ चन्द्रोदय 07:48:59
☀ चन्द्र राशि तुला – 24:47:50 तक
☀ सूर्यास्त 17:47:58
☀ चन्द्रास्त 19:11:00
☀ ऋतु शरद

☀ हिन्दू मास एवं वर्ष
शक सम्वत 1942 शार्वरी
कलि सम्वत 5122
 दिन काल 11:23:58
 विक्रम सम्वत 2077
 मास अमांत आश्विन
 मास पूर्णिमांत आश्विन

☀ शुभ और अशुभ समय
☀ शुभ समय
अभिजित 11:43:11 – 12:28:46
☀ अशुभ समय
दुष्टमुहूर्त 16:16:46 – 17:02:22
कंटक 10:11:59 – 10:57:35
यमघण्ट 13:14:22 – 13:59:58
राहु काल 16:22:28 – 17:47:57
कुलिक 16:16:46 – 17:02:22
कालवेला या अर्द्धयाम 11:43:11 – 12:28:46
 यमगण्ड 12:05:59 – 13:31:28
गुलिक काल 14:56:58 – 16:22:28
☀ दिशा शूल
 दिशा शूल पश्चिम

☀ चन्द्रबल और ताराबल
☀ ताराबल
 अश्विनी, कृत्तिका, मृगशिरा, आर्द्रा, पुनर्वसु, पुष्य, मघा, उत्तरा फाल्गुनी, चित्रा, स्वाति, विशाखा, अनुराधा, मूल, उत्तराषाढ़ा, धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद
☀ चन्द्रबल
 मेष, वृषभ, सिंह, तुला, धनु, मकर


दिन विशेष – आज शारदीय नवरात्र का द्वितीय दिवस आज की देवी ब्रह्मचारिणी है। आज त्रिपुष्कर योग बन रहा है। इस योग में किया गया कार्य शीघ्र ही सिद्ध हो जाता है।

 पढ़ें आज का राशिफल  – पंचांग क्या होता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.